Best Sad Status in Hindi for Whatsapp, Aaj socha jinda hu

आज सोचा जिंन्दा हुँ, तो घूम लूँ, मरने के बाद तो भटकना ही है..!

युं ही हम दिल को साफ़ रखा करते थे..पता नही था की, किमत चेहरों की होती है!

हर रात जान बूझकर रखता हूँ दरवाज़ा खुला..शायद कोई लुटेरा मेरा गम भी लूट ले।

एक खेल रत्न उसको भी दे दो, बड़ा अच्छा खेलती है वो दिल से।

बदनाम क्यों करते हो तुम इश्क़ को, ए दुनिया वालो..मेहबूब तुम्हारा बेवफा है, तो इश्क़ का क्या कसूर..!! 🙁

दिल ही दिल में कुछ छुपाती है वो, यादों में आ कर चैन चुराती है वो, ख्वाबों में एक ऐहसास जगा रखा है, बन्द आँखों में अश्क बन के तडपाती है वो..

टूट जायेंगी उसकी “ज़िद” की आदत उस वक़्त..जब मिलेगी ख़बर उनको की याद करने वाला अब याद बन गया है..

है दफ़न मुझमे कितनी रौनके मत पूछ ऐ दोस्त.. हर बार उजड़ के भी बस्ता रहा वो शहर हूँ मैं!!

तेरी आँखों से यून तो सागर भी पिए हैं मैने, तुझे क्या खबर जुदाई के दिन कैसे जिए हैं मैने..

युं तो गलत नही होते अंदाज चहेरों के..लेकिन लोग, वैसे भी नहीं होते जैसे नजर आते है।

हर सिग्नल तेरी याद दिलाता है, तूने भी रंग कुछ इसी तरह बदला था।

लिखना तो ये था कि खुश हूँ तेरे बगैर भी. पर कलम से पहले आँसू कागज़ पर गिर गया।

हम रूठे दिलों को मनाने में रह गए, गैरों को अपना दर्द सुनाने में रह गए, मंज़िल हमारी, हमारे करीब से गुज़र गयी, हम दूसरों को रास्ता दिखाने में रह गए।

दिल से खेलना तो हमे भी आता है.. लेकिन जिस खैल मे खिलौना टुट जाए वो खेल हमे पसंद नही।

नींद भी नीलाम हो जाती है बाज़ार-ए-इश्क में, किसी को भूल कर सो जाना, आसान नहीं होता!

मैंने पूछा उनसे, भुला दिया मुझको कैसे.. चुटकियाँ बजा के वो बोली..ऐसे, ऐसे, ऐसे

दिल तो करता हैं की रूठ जाऊँ कभी बच्चों की तरह फिर सोचता हूँ कि मनाएगा कौन?

बिना उसके दिल का हाल कैसे बतलाऊ.. जैसे खाली बस्ता हो किसी नालायक बच्चे का!

एहसान किसी का वो रखते नहीं मेरा भी चुका दिया, जितना खाया था नमक मेरा, मेरे जख्मों पर लगा दिया।

तुम अपने ज़ुल्म की इन्तेहाँ कर दो, फिर कोई हम सा बेजुबां मिले ना मिले।